सबसे अच्छा ट्रेडिंग एप्प

इंट्राडे ट्रेडिंग में स्टॉक का चुनाव कैसे करें?

इंट्राडे ट्रेडिंग में स्टॉक का चुनाव कैसे करें?
क्योंकि आपको शेयर मार्केट में अंधाधुंध पैसा नहीं लगाना है, इसलिए आपको हर एक कंपनी का चार्ट देखना चाहिए चार्ट को देखकर आप समझ सकते हैं कि कंपनी फिलहाल किस प्राइस पर ट्रेंड कर रही है, और पहले किस प्राइज पर थी, चार्ट से आप कंपनी की भविष्य में स्टॉक प्राइस को लेकर बनने वाली संभावनाओं के बारे में भी विचार कर इंट्राडे ट्रेडिंग में स्टॉक का चुनाव कैसे करें? सकते हैं, चार्ट को देखकर बहुत सारी चीजों का अंदाजा लगाया जा सकता है।

11 Best Intraday trading tips for beginners

स्टॉक मार्केट को समझने के लिए क्या बेहतर तरीका है। Intraday trading को कैसे समझा जाए?

नमस्कार दोस्तों,

अगर शेयर बाजार में डे-ट्रेडिंग (इंट्राडे ट्रेडिंग )करना चाहते हैं तो इसके लिए पहले आपको डीमैट अकाउंट और एक ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना होता है. इस अकाउंट में आप या तो ब्रोकर को फोन पर ऑर्डर देकर शेयर का कारोबार कर सकते हैं या ऑनलाइन भी खुद से ट्रेडिंग कर सकते हैं.

आइये जानते है ट्रेडिंग अकाउंट क्या है? कैसे करें ऑनलाइन ट्रेडिंग

What is trading account in hindi

What is trading account in hindi

  • ऐसे खोले ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग अकाउंट
  • Trading Account ऐसे करता है काम
  • ऑनलाइन ट्रेडिंग कैसे करे?

ट्रेडिंग अकाउंट क्या है: शेयर बाजार में निवेश करने या फिर ट्रेडिंग करने के लिए ट्रेडिंग अकाउंट की आवश्यकता होती है।

स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग अकाउंट के माध्यम से यही शेयर को खरीदा और बेचा जाता है। इसमें ट्रेडर अपने Buy या Sell करने के आर्डर को ब्रोकर को कॉल करके बता देता है। या फिर ऑनलाइन ट्रेडिंग के माध्यम से खुद ही अपना आर्डर करता है।

ऐसे खोले ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग अकाउंट

ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग अकाउंट खोलना बेहद आसान प्रक्रिया है। इसके लिए ब्रोकर की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होता है। ऑनलाइन ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के लिए निम्नलिखित डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ती है। –

What is TDS in Hindi

How Open Demat Account Step by Step

  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • नॉमिनी की फोटो
  • एड्रेस प्रूफ जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी,
  • कैंसिल चेक और लेटेस्ट बैंक स्टेटमेंट
  • डीमैट अकाउंट की डिटेल

Trading Account ऐसे करता है काम –

ट्रेडिंग अकाउंट में सबसे पहले निवेशक इसी ट्रेडिंग एकाउंट में पैसा जमा इंट्राडे ट्रेडिंग में स्टॉक का चुनाव कैसे करें? करता है उसके बाद जिस शेयर को खरीदना या बेचना है उसके दाम को चेक करता है और आर्डर करता है। यह आर्डर स्टॉक एक्सचेंज के पास जाता है। इस ऑर्डर को काउंटर ऑर्डर मिल जाने के बाद यह एग्जीक्यूट (Execute) हो जाता है। इस दौरान पैसे पर लगने वाले टैक्स या फिर चार्ज ट्रेडिंग अकाउंट से ही काटे जाते हैं। इसके बाद शेयर 2 दिन में डीमैट अकाउंट में जमा हो जाते हैं। लेकिन यदि शेयर को बेचने का ऑर्डर किया गया रहता है तो शेयर का पैसा टैक्स और ब्रोकरेज कट होने के बाद ट्रेडिंग अकाउंट में जमा हो जाता है।

ट्रेडिंग अकाउंट होने से ऑनलाइन चैटिंग की सुविधा आसान हो जाती है शेयर को खरीद कर पैसे कटाना और बेचने पर पैसे जमा होना, यह सारी प्रक्रिया अपने आप ऑटोमेटिक होती है। इसके लिए किसी लिखित पेपर या कॉल की जरूरत नहीं पड़ती है। ऑर्डर बहुत जल्दी ही पूरा हो जाता है। मोबाइल के द्वारा भी किसी भी जगह से शेयर को खरीदा और बेचा जा सकता है।

ऑनलाइन ट्रेडिंग कैसे करे?

ऑनलाइन ट्रेडिंग करने के लिए सबसे पहले एक ट्रेडिंग का चयन करना होगा। जिसके साथ अपना ट्रेडिंग डिमैट अकाउंट ओपन करना होता है। शेयर मार्केट में कई प्रकार की ट्रेडिंग होती है। इंट्राडे ट्रेडिंग में स्टॉक का चुनाव कैसे करें? इसके इंट्राडे ट्रेडिंग, स्विप ट्रेडिंग, पोजीशनल ट्रेडिंग आदि है। इनमें से किसी भी ट्रेडिंग का चुनाव करके ट्रेडिंग की जा सकती है।

ट्रेडिंग स्टाइल के चयन के बाद ट्रेडिंग प्लस और मनी मैनेजमेंट की बारी आती है। इसमें ट्रेडिंग प्लस में कौन सा शेयर खरीदना है और कब खरीदना है जैसी बातें शामिल होती है।

वही मनी मैनेजमेंट में कितने रुपए का निवेश करना है टारगेट क्या होगा?, ऐसी बातों का ध्यान दिया जाता है।

शेयर मार्केट में ट्रेडिंग को दो भागों में बांटते हैं। इंट्राडे ट्रेडिंग और डिलीवरी बेस्ड ट्रेडिंग

इंट्राडे ट्रेडिंग में शेयर को एक ही दिन में खरीद कर उसे बेचना होता है। इसमें शेयर को वास्तविकता में नहीं खरीदा जाता बल्कि ब्रोकर को कुछ मार्जिन देखा शेयर के भाव में उतार-चढ़ाव जब आता है तो उसका फायदा उठाया जाता है। डिलीवरी बेस्ड ट्रेडिंग में शेयर को वास्तव में खरीदा जाता है और जितने भी शेयर लिए जाते है, उनका पूरा पैसा चुकाना होता है। डिलीवरी बेस्ट ट्रेडिंग में आप शेयर को जब तक चाहे अपने पास रख सकते हैं।

Rich Dad’s Guide to Investing | रिच डैड्स गाइड टू इन्वेस्टिंग

दोस्तों इस बुक को रॉबर्ट कियोसकी द्वारा लिखा गया है और रॉबर्ट कियोसकी एक ऐसे व्यक्ति हैं जो अपनी इन्वेस्टिंग के स्ट्रेटजी के दम पर ना सिर्फ अपनी जिंदगी बल्कि लाखों लोगों की लाइफ में बदलाव लाया है और वह एक महान इन्वेस्टर व बिजनेस कोच भी रह चुके हैं और रॉबर्ट कियोसकी रिच डैड गाइड इन्वेस्टिंग बुक्स के फाउंडर भी है

share market books in hindi


इस बुक में आपको इन्वेस्टिंग करने के बेहतरीन टिप्स व आप अपना रिच माइंडसेट कैसे बना सकते हैं और यह भी जाने को मिलेगा कि अमीर कैसे बना जा सकता है और इस बुक से शेयर मार्केट समझ में पहले बेहतरी होगी

Intraday Trading Ki Pehchan

यह बुक भी शेयर मार्केट सीखने के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि बहुत से इन्वेस्टर इंट्राडे ट्रेडिंग के द्वारा ही शेयर बाजार में इन्वेस्ट करते हैं और यह जल्दी पैसे कमाने का शेयर मार्किट में अच्छा विकल्प होता है

दोस्तों इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए आपको टिप्स और ट्रिक्स के बारे में पता होना चाहिए क्योंकि जब आपको इनके तरीके के बारे में पता होगा तभी आप इसमें लाभ कमाने के लिए ज्यादा अवसर मिलेंगे और उतना ही पैसे डूबने की संभावना कम होंगी

इस बुक में आपको इंट्राडे ट्रेडिंग और मार्केट सिक्योरिटी के बारे में और इसके अलावा रिस्क कंट्रोल और पोर्टफोलियो मैनेजमेंट में के बारे में सीखने को मिलेगा

Hindi Edition – Buy Now

Kaise Stock Market Mein Nivesh Kare

इस बुक को सीएनबीसी आवाज टीवी चैनल द्वारा लांच किया गया है और इस बुक में आपको भारतीय शेयर मार्केट के बारे में ओर अच्छे से समझ पाएंगे क्योंकि इसमें शेयर मार्केट से जुड़ी सारी बातें सारी बुनियादी बातों को सरल इंट्राडे ट्रेडिंग में स्टॉक का चुनाव कैसे करें? व आसान शब्दों में समझाया गया है

इस बुक के द्वारा आप शेयर मार्किट का विश्लेषण करना सीख पाएंगे और किसी स्टॉक में निवेश करने से पहले क्या ध्यान रखना चाहिए इसके अलावा शेयर मार्केट में निवेश के दौरान होने वाली गलतियों कैसे बचे और यह कैसे काम करता है इसके बारे में ओर अच्छे से समझ पाएंगे

Hindi Edition – Buy Now

शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं?

दोस्तों अगर आप 2022 में शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं और शेयर मार्केट से पैसा कमाना चाहते हैं तो आपको बहुत सारे प्लेटफार्म मिल जाएंगे, जहां पर आप अपनी पहली शुरुआत कर सकते हैं, अगर मैं आपको कुछ अच्छे प्लेटफार्म के बारे में बताऊं तो एंजल ब्रोकिंग (Angel Broking), अप स्टॉक्स (Upstox Pro App) और जीरोधा (Zerodha Kite) जैसे भारतीय प्लेटफार्म पर आपको भरोसा करना चाहिए।

share market me paisa kaise lagaye - 2022 में शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं

शेयर मार्केट में पैसा लगाने से पहले क्या करे?

शेयर मार्केट में पैसा लगाने के लिए आपको सबसे पहले एक सॉफ्टवेयर का चुनाव करना होगा, आप एंजल ब्रोकिंग, अप स्टॉक या जिरोधा में से कोई भी एक सॉफ्टवेयर चुन सकते हैं, या एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर मल्टीपल भी हो सकते हैं, एंजल ब्रोकिंग, एप्सटॉक्स और जिरोधा पर अकाउंट बनाना फ्री नहीं है।

यहां पर 200 से ₹300 तक चार्ज लगते हैं, एक बार अकाउंट बनने के बाद यह लाइफ टाइम के लिए फ्री रहता है।

जब आपका डिमैट अकाउंट बनकर तैयार हो जाए तो आप शेयर मार्केट में पैसा लगाना शुरू कर सकते हैं, लेकिन यहां पर आपके सामने दो ऑप्शन आएंगे आप चाहे तो डिलीवरी में पैसा लगा सकते है।

या इंट्राडे मार्केट में भी पैसा लगा सकते हैं, इंट्राडे मार्केट का मतलब होता है एक दिन की मार्केट, यानि की शेयर मार्केट में आप जिस दिन पैसा लगाएंगे आपको अपना पैसा उसी दिन वापस निकालना होगा।

Line charts

Line Charts are the simplest, as they only connect closing prices over a given time period and depict the general price trend.

You can use this type of chart as an overlay or for comparing charts when performing an inter-market analysis.

For example, you might compare the prices of the Australian dollar and gold using a line chart.

Candle charts

Japanese Candlesticks offer the most popular form of charting.

The candle chart bears much more information than the line chart and it is represented in an easy-to-grasp visual form.

The real body marks the area between the open and the close price. If price closes above the open, the body is hollow. If the price ends up closing lower, the body is solid.

The hollow candle is referred to as white, and the solid candle is called black, though, in reality, the chart can be shown in any color.

The narrow line - called a shadow - shows the price range for the set time period.

One Japanese candlestick is basically a linear chart representing a price for a selected timeframe but shown in a more compact form.

What timeframe to choose for the chart

Traders use monthly, weekly, daily, 4-hour, hourly, 15-minute and even 1-minute timeframes.

Ideally, traders pick the main timeframe they are interested in and then choose a इंट्राडे ट्रेडिंग में स्टॉक का चुनाव कैसे करें? longer and a shorter timeframe to complement the main one.

The longer timeframes typically contain fewer and more reliable signals. The shorter timeframes usually contain more signals with less accuracy.

There are several types of traders, and they have different trading styles.

Swing or position traders prefer holding trades for days or weeks.

They mainly focus on the daily charts for their trades. They can also make use of a weekly chart when defining the long-term trend, as you can see on the example. And track a 4-hour chart when defining the immediate short-term trend.

रेटिंग: 4.61
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 392
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *